रेडियोएक्टिव क्षय का नियम क्या है, रदरफोर्ड और सोडी का नियम, सूत्र स्थापना

रेडियोएक्टिव क्षय जब किसी रेडियोएक्टिव पदार्थ के परमाणुओं से ɑ अथवा β-कण तथा γ-किरणें निकलते हैं। तब इससे परमाणु का भार एवं क्रमांक परिवर्तित हो जाता है। एवं इसके पश्चात एक नए तत्व के परमाणु का जन्म हो जाता है। इस घटना को रेडियोएक्टिव क्षय (radioactive decay in Hindi) कहते हैं। इसे रेडियोएक्टिव विघटन भी …

रेडियोएक्टिव पदार्थ क्या है, रेडियोधर्मिता की खोज, गुण, नाम

हमारी पृथ्वी की आयु कितनी है?कैंसर कोशिकाओं की रेडियो चिकित्सा क्या है?भूगर्भ विज्ञानी खुदाई द्वारा प्राप्त शैलों तथा जीवाश्मों की आयु का निर्धारण किस प्रकार करते हैं?यह कुछ महत्वपूर्ण है और रोचक प्रश्न है। इन सभी प्रश्नों के उत्तर रेडियोएक्टिवता के अध्ययन में अंतर्निहित हैं। अर्थात् इस प्रकार के प्रश्नों का उत्तर रेडियोएक्टिवता के माध्यम …

नाभिक की द्रव्यमान क्षति तथा नाभिक की बंधन ऊर्जा से क्या तात्पर्य है सूत्र

प्रस्तुत लेख के अंतर्गत हम नाभिक की द्रव्यमान क्षति तथा नाभिक की बंधन ऊर्जा के बारे में आसान भाषा में अध्ययन करेंगे। एवं इसको आसान से समझने के लिए हम उदाहरण का भी प्रयोग करेंगे। नाभिक की द्रव्यमान क्षति किसी परमाणु के नाभिक का वास्तविक द्रव्यमान तथा उस नाभिक में विद्यमान न्यूक्लिऑनों (प्रोटोनों तथा न्यूट्रॉनों) …

नाभिकीय रिएक्टर क्या है, परमाणु भट्टी का सचित्र वर्णन कीजिए, उपयोग, खोज

नाभिकीय विखंडन प्रक्रिया में एक अन्य न्यूट्रॉन की उत्पत्ति होती है। कुछ विखंडन घटनाओं में 2 न्यूट्रॉनों की उत्पत्ति होती है तो कुछ विखंडन घटनाओं में 3 न्यूट्रॉनों की उत्पत्ति होती है। अगर एक औसत अनुपात माने तो प्रति यूरेनियम विखंडन में 2.5 न्यूट्रॉनों की उत्पत्ति होती है।नाभिकीय रिएक्टर का निर्माण सर्वप्रथम एनरिको फर्मी ने …

नाभिकीय विखंडन और नाभिकीय संलयन में अंतर लिखिए pdf

नाभिकीय विखंडन और नाभिकीय संलयन इन दोनों के बारे में हम पिछले दो लेखों में विस्तार पूर्वक अध्ययन कर चुके हैं। अगर आपने पिछले लेख नहीं पढ़े हैं तो उन दोनों का लिंक हमने नीचे दिया प्रस्तुत किया है। वहां से आप नाभिकीय विखंडन और नाभिकीय संलयन को अच्छी तरह पढ़ सकते हैं।पढ़ें…. नाभिकीय विखंडन …

नाभिकीय संलयन किसे कहते हैं उदाहरण | Nuclear fusion in Hindi

यह तो हम पढ़ ही चुके हैं कि यूरेनियम के नाभिक को हल्के नाभिकों में अलग किया जा सकता है। और ऐसा करने में अधिक मात्रा में ऊर्जा मुक्त होती है। लेकिन यदि हम हल्के नाभिकों को मिला दें, तो क्या ऊर्जा उत्पन्न होगी। इसके बारे में विस्तार से समझते हैं। नाभिकीय संलयन वह प्रक्रिया …

नाभिकीय विखंडन क्या है, उदाहरण समझाइए, ऊर्जा, समीकरण

नाभिकीय विखंडन जब किसी भारी नाभिक पर न्यूट्रॉनों की बमबारी की जाती है। तो वह नाभिक लगभग दो हल्के तथा समान नाभिकों में विखंडित हो जाता है। एवं इस प्रक्रिया में बहुत अधिक ऊर्जा मुक्त होती है। अतः इस प्रकार भारी नाभिकों का हल्के-हल्के नाभिकों में विखंडित होने की प्रक्रिया को नाभिकीय विखंडन (Nuclear fission …

परमाणु नोट्स | Physics class 12 chapter 12 notes in Hindi

परमाणु नोट्स प्राचीन काल में द्रव्य की रचना के संबंध में दार्शनिकों का यह मत था कि प्रत्येक पदार्थ छोटे-छोटे कणों से मिलकर बना होता है। लेकिन इस मत की पुष्टि करने के लिए उनके पास कोई प्रायोगिक प्रमाण उपलब्ध नहीं थे। सन् 1803 में वैज्ञानिक डाल्टन ने परमाणु के संबंध में अध्ययन करके यह …

हाइड्रोजन स्पेक्ट्रम क्या है बामर, लाइमन, पाश्चन श्रेणी किसे कहते हैं व्याख्या

हाइड्रोजन स्पेक्ट्रम हाइड्रोजन के स्पेक्ट्रम की अध्ययन बामर ने किया था। तथा यह बताया कि इस स्पेक्ट्रम में काली पृष्ठभूमि पर बहुत सी अलग-अलग चमकीली रेखाएं होती है। इस स्पेक्ट्रम के एक सिरे से दूसरे सिरे की ओर चलने पर इन रेखाओं की चमक तथा उनके बीच की दूरी लगाकर घटती जाती है। अतः इस …

रदरफोर्ड का परमाणु मॉडल क्या है दोष, तथ्य का सचित्र वर्णन लिखिए

रदरफोर्ड का परमाणु मॉडल सन् 1911 में वैज्ञानिक रदरफोर्ड ने परमाणु की संरचना जानने के लिए प्रयोग किया। इसमें प्रयोग में रेडियोएक्टिव तत्व पोलिनियम से उच्च गतिज ऊर्जा से निकलने वाली α-किरणों की किसी एक किरण-पुंज को बहुत महीन स्वर्ण-पत्र पर गिराया। एवं रदरफोर्ड ने यह देखा कि स्वर्ण-पत्र में से α-कणों की किरण-पुंज गुजरते …